One Response

Page 1 of 1
  1. avatar
    पंकज पाण्डे बागेश्वर October 12, 2012 at 12:15 PM |

    मुझे आपके विचार पसंद हैं लेकिन चक्रव्यूह कितना भी घना क्यूँ ना हो उसे भेदना ही पड़ेगा. तभी हम आने वाली पीढ़ियों को उनका नैसर्गिक अधिकार दिला पायेंगे.

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: