One Response

Page 1 of 1
  1. avatar
    GS Kandari July 29, 2017 at 4:09 PM |

    सही कहा। यह उत्तराखण्ड का दुर्भाग्य है कि नेता यहां जनता की सेवा करने नहीं अपने संबंधियो ंकी पोस्टिंग ट्रांसफर जैसे कामों में ज्यादा दिलचस्पी रखते है। जो नेता इस प्रकार की हरकतें करते है वे हमेशा सत्ता में रहना चाहते हैं और बड़े चतुर होते है वे किसी पार्टी में अपना भविष्य जान जाते हैं । इसी कड़ी में यह महोदया भी है। वैसे भी उत्तराखण्ड में उत्तर पद्रेश की तरह सरकार दिख भी नहीं रही है।

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: