प्रदीप पांडे

द्रोण गिरी की अनूठी रामलीला

मनोज इष्टवाल बात अजीब सी है लेकिन है एकदम सौ आने सच। वो हनुमान जी ही थे जिनके कारण हजारों बर्ष बाद भी द्रोणागिरी गाँव की महिलाएं अपने समाज व अपने देवता की उपेक्षा का दंश झेल रही हैं। बस उस बुजुर्ग महिला की यह गलती थी कि उसे लक्ष्मण के प्राण संकट में होने […]