One Response

Page 1 of 1
  1. avatar
    ruok.imok September 13, 2011 at 3:40 PM |

    महाराज आपने एन्ग्लिंग को मछली मारने का खेल बता कर हद ही कर दी. पपनै जी के लेख में कहीं एन्ग्लिंग का मतलब मछली पकड़ना नहीं बताया गया है. आपने हैड लाइन में न जाने कहाँ से एन्ग्लिंग को मछली मारने का खेल बता दिया. महाराज जी उत्तराखंड में अधिकांश जगह मछली मारना अपराध है. इसके किये वन्य जीवन संरक्षण कानून के तहत सजा हो सकती है. लेकिन एन्ग्लिंग अपराध नहीं है. एन्ग्लिंग के शौक़ीन मछलियाँ पकड़ कर उन्हें फिर से नदी या तालाब में छोड़ देते हैं. आपका शीर्षक भ्रामक है. इससे क़ानून से अनभिज्ञ लोगों को एन्ग्लिंग का परमिट लेकर मछली मरने पर सजा भुगतनी पड़ सकती है. नैनीताल समाचार शुरू से ही पर्यावरण संरक्षण का समर्थक रहा है. कृपया भूलसुधार कर पाठकों की गलतफहमी दूर कर दें.

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: