4 Responses

Page 1 of 1
  1. avatar
    GAJENDRA RAUTELA April 29, 2012 at 12:08 AM |

    What an idea sir ji ……!!!!! Ek idea jo badal de sabki zindagi…..!!!!!!

    Reply
  2. avatar
    Laxman Singh Bisht Batrohi April 29, 2012 at 2:31 PM |

    बहुत बढ़िया लेख. यही है सही अप्रोच, जो बहुत दिनों के बाद दिखाई पड़ी.

    Reply
  3. avatar
    RiskyPathak May 7, 2012 at 11:13 PM |

    i agree

    Reply
  4. avatar
    GANESH LOHANI May 14, 2012 at 12:24 PM |

    वाह आदरनीय राणा जी क्या खूब कटाक्ष किया | सही कहा आपने सलीका सिखाने कि जरुरत है | अति संवेनशील विषय है आपने विपरीत दिशा से नहीं पकड़ा है सीधे पकड लिया अनजाने मैं ही सही | जूते पड़ने कि नौबत नहीं आने वाली, वेसे भी भगवान शम्भू ने सारा जहर अकेले ही गटक लिया था |बहुत बहुत बधाई |

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: